एक सीजन में 1,000 रन बनाने वाले पहले भारतीय कप्तान बने विराट कोहली

हैदराबाद में बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए विराट कोहली ने एक सीजन में बतौर कप्तान 1,000 रन पूरे किए। उन्होंने ये कारनामा 66वें ओवर में ताइजुल इस्लाम की गेंद पर एक रन बटोरकर मुकम्मल किया। इस टेस्ट के पहले कोहली के नाम वर्तमान 2016-17 सीजन में कुल 964 रन थे। बतौर खिलाड़ी कोहली ये कारनामा करने वाले सातवें भारतीय क्रिकेटर बने। उनके पहले ये कारनामा गौतम गंभीर(1,269 साल 2008-09 में), राहुल द्रविड़(1,241 साल 2003-04 में और 1,006 साल 2002 में)), मोहिंदर अमरनाथ1,182 साल 1982-83 में), सुनिल गावस्कर( 1,179 साल 1978-79, 1,027 साल 1979-80 में) और वीरेंद्र सहवाग(1,128 साल 2004-05 में और 1.079 साल 2003-04 में) ने मुकम्मल किया है।

इसके अलावा कोहली विश्वस्तर पर एक सीजन में सर्वाधिक रन बनाने वाले सातवें कप्तान बने। उनके पहले ये कारनामा रिकी पोंटिंग(1,483 साल 2005-06), ब्रायन लारा(1,253 साल 2003-04 में), माइकल क्लार्क(1,178 साल 2012-13, 1,141 साल 2011- 12 में), ग्रीम स्मिथ(1,107 साल 2011-12), ग्राहम गूच(1,058 साल 1990 में) और बॉब सिम्पसन(1,007 साल 1964-65) अपने नाम कर चुके हैं। इस बेहतरीन कारनामें के अलावा, कोहली ने सचिन तेंदुलकर ने एक सीजन में बतौर कप्तान चौकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। इस मैच के पहले कोहली के नाम 106 चौके थे और अब वह उन्होंने सचिन के द्वारा साल 1999-2000 सीजन में जड़े गए 109 चौकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है।

इसके अलावा कोहली 2016-17 सीजन में अब तक तीन शतक जड़ चुके हैं। यह दूसरा मौका है जब कोहली ने बतौर कप्तान तीन शतक जड़े हैं। इसके पहले उन्होंने 2014-15 सीजन में ये कारनामा मुकम्मल किया था। यह कीर्तिमान प्राप्त करने वाले वह दूसरे भारतीय कप्तान हैं। उनके पहले सुनील गावस्कर ने साल 1978-79 और 1979-1980 में तीन- तीन शतक जड़े थे।

Advertisements

LIVE भारत बनाम बांग्लादेश, पहला टेस्ट : भारत ने टॉस जीता, पहले बल्लेबाजी का फैसला

​Live Updates


6 mins ago9:14 am
बांग्लादेश(अंतिम एकादश): तमीम इकबाल, सौम्या सरकार, मोमिनुल हक, महमूदुल्लाह, शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम(विकेटकीपर/कप्तान), सब्बीर रहमान, मेहंदी हसन, ताइजुल इस्लाम, तास्किन अहमद, कामरुल इस्लाम रब्बी।भारत(अंतिम एकादश): मुरली विजय, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली(कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रिद्धिमान साहा(विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव, ईशांत शर्मा।

8 mins ago 9:11 am
टॉस: भारत ने टॉस जीता, पहले बल्लेबाजी का फैसला

भारत की मेजबानी में बांग्लादेश पहला टेस्ट खेल रही है

नमस्कार, आदाब क्रिकेट स्पाई हिंदी की लाइव कवरेज में आपका स्वागत है। मैं हूं देवब्रत वायपेयी और मैं आपको भारत और बांग्लादेश के बीच एकमात्र टेस्ट से जुड़ी हर अपडेट से रूबरू करवाऊंगा। हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में दोनों देशों के बीच एकमात्र टेस्ट खेला जाएगा। जीत के रथ पर सवार टीम इंडिया जहां पिछले साल अजेय रही थी। तो वहीं बांग्लादेश ने भी इंग्लैंड को टेस्ट में हराकर और उसके बाद न्यूजीलैंड को कड़ी टक्कर देकर ये साबित कर दिया है कि अब वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बच्चे नहीं रहे। ऐसे में भारतीय टीम को बांग्लादेश को हल्के में लेना भारी पड़ सकता है।

बांग्लादेश ने साल 2000 में बीसीसीआई की मदद से टेस्ट दर्जा प्राप्त किया है। वनडे और टी20I जैसे प्रारूपों में विश्व की हर बड़ी टीमों को मात देने वाली बांग्लादेश की टीम ये साबित करने के इरादे से मैदान पर उतरेगी कि वे अब टेस्ट में भी किसी भी टीम को धूल चटा सकते हैं। इस टीम में कई ऐसे खिलाड़ी है जो नियमित टेस्ट मैच खेलने पर विपक्षी टीम के लिए खतरा बन सकते हैं लेकिन फिलहाल यह टीम लाल गेंद के खेल से कुछ अनजान है। विराट कोहली की टीम इस समय टेस्ट में शीर्ष स्थान पर है जबकि बांग्लादेश अब भी टेस्ट में पांव जमाने की कोशिश में है। भले ही मैच एकतरफा नजर आ रहा हो लेकिन बांग्लादेश भारत को कड़ी टक्कर जरूर देगा।

भारत अपनी सरजमीं पर सात सालों के बाद किसी उप-महाद्वीप की टीम की टेस्ट में मेजबानी कर रहा है। पिछली बार साल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में वीरेंद्र सहवाग ने जबरदस्त बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया था और मुथैया मुरलीधरन, रंगना हेराथ की बखिया उधेड़ते हुए ब्रेबोर्न स्टेडियम में टीम इंडिया की जीत का झंडा गाड़ दिया था। इसके बाद ही पहली बार टीम इंडिया टेस्ट में नंबर एक टीम बनी थी। साल 2009 में जो टीम इंडिया खेली थी उसका सिर्फ एक खिलाड़ी मुरली विजय ही वर्तमान में सक्रिय है और बाकी टीम बदल चुकी है। लेकिन वर्तमान में भी टीम इंडिया टेस्ट में नंबर वन है। बांग्लादेश टीम पहली बार टेस्ट खेलने के लिए भारत आई है। ऐसे में उपमहाद्वीप की पिच पर बांग्लादेश भारत के खिलाफ क्या चुनौती पेश कर पाता है ये देखना दिलचस्प होगा।